Monday, March 23, 2009

खंडहर ( (राजस्थान साहित्य अकादमी की मधुमती पत्रिका अक्टूबर 2008 में प्रकाशित)

6 comments:

सतीश चंद्र सत्यार्थी said...

बहुत सजीव आरेख

अपना अपना आसमां said...

dilkash sketch banai hain.

Science Bloggers Association said...

प्रशंसनीय।

neeshoo said...

कहां गायब थी इतने दिन । हमेशा की तरह ही अच्छी कलाकारी । नियमित रहो । धन्यवाद

Amit said...
This comment has been removed by the author.
Lokendra said...

बहुत ही खूबसूरत है... रेखाओ को भी आप ने क्या जीवंत रूप प्रदान किया है...